हिमाचल में सफर करना मंहगा हुआ, बस किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी

हिमाचल में सफर करना मंहगा हुआ, बस किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी-Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में बसों में सफर करने के लिए यात्रियों को अब ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी. राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने कोरोना संकट के बीच बस किराये में बढ़ोतरी का कड़ा फैसला लिया है. प्रदेश मंत्रिमंडल की सोमवार को आयोजित बैठक में किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी को मंजूरी प्रदान की गई.

इसके साथ ही न्यूनतम किराया 5 रुपये से बढ़ाकर 7 रुपये कर दिया गया है. अब हिमाचल में पहाड़ से लेकर मैदान तक बसों में सफर करना मंहगा हो गया है. पिछले एक माह से सरकार किराया बढ़ोतरी पर विचार कर रही थी.


मंत्रिमंडल ने राज्य के भीतर और बाहर हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बसों में सांसदों और विधायकों को मुफ्त यात्रा की सुविधा वापस लेने का भी निर्णय लिया है. हालांकि यह सुविधा सभी पूर्व विधायकों और सांसदों के लिए जारी रहेगी.

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि कोविड महामारी के कारण फंड की कमी और डीजल की कीमतें बढ़ने की वजह से बस किराए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. उन्होंने कहा कि तीन किलोमीटर की यात्रा करने पर न्यूनतम किराया 7 रुपये देना होगा. इससे पहले न्यूनतम किराया 5 रुपये था.

उल्लेखनीय है कि राज्य की जयराम सरकार के कार्यकाल में दूसरी बार बस किराया बढ़ाया गया है. इससे पूर्व सितंबर, 2020 में किराए में 20 से 24 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी.