आदिवासियों की बात करने वाले मुख्यमंत्री के राज में राजधानी में भी सुरक्षित नहीं आदिवासी : दीपक प्रकाश

आदिवासियों की बात करने वाले मुख्यमंत्री के राज में राजधानी में भी सुरक्षित नहीं आदिवासी : दीपक प्रकाश - Panchayat Times

रांची. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने बीते कल अरगोड़ा चौक स्थित आदिवासी लोहरा परिवारों सहित अन्य घायल एवं पीड़ित परिजनों से मुलाकात की. कडरू स्थित हज हाउस धरना स्थल के समीप अपराधी तत्वों के द्वारा जानलेवा हमला किया गया था जिसमें कई लोग घायल हुए है, इनकी बस को भी जलाने की कोशिश की गई थी.

क्या है मामला

दरअसल सोमवार को लोहरा परिवार बेटी के छेंका कार्यक्रम सम्पन्न कर नामकुम से अरगोड़ा लौट रहा था. खुशी की मौज मस्ती में बज रहे गाने को लेकर कडरू हज हाऊस के पास सीएए के विरोध में चल रहे धरना स्थल के पास जमकर मारपीट हुई थी. जिसमें दोनों ओर से कई लोग घायल हो गये थे.

कडरू को भी शाहीन बाग जैसा बनाकर राजधानी को आतंकित करने की कोशिश

प्रकाश ने कहा की कडरू को भी शाहीन बाग जैसा बनाकर राजधानी को आतंकित करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा की आदिवासी हित की बात करने वाले मुख्यमंत्री के राज में राज्य की राजधानी में भी आदिवासी सुरक्षित नहीं है. इस सरकार की शुरुआत ही आदिवासियों की नृशंस हत्या से हुई है. इस सरकार में लोग अपना सामाजिक, पारिवारिक जीवन भी चैन से नहीं बिता सकते.

पीड़ित परिवार का सही एफआईआर भी नही किया गया दर्ज

उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार का सही एफआईआर भी दर्ज नही किया गया है. पुलिस द्वारा ना तो पीड़ितों का बयान लिया गया नहीं घायलों की घायल रिपोर्ट बनवाई गई परिजन बस से लौट रहे थे, जबकि पुलिस ने सरकार के इशारे पर घटना की लीपापोती का कुत्शित प्रयास किया है. और घटना को एक टेम्पो वाले के साथ लड़ाई दिखाया है.

पीड़ित परिजनों को ही गिरफ्तार करने एवं प्रताड़ित करने में लगी है पुलिस

प्रकाश ने कहा की पुलिस अपराधियों पर कार्रवाई न करते हुए पीड़ित परिजनों को ही गिरफ्तार करने एवं प्रताड़ित करने में लगी है. प्रकाश ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि प्रशासन को सरकार के गलत इशारे पर चलने से बचना चाहिये, सीसीटीव फुटेज के आधार पर अपराधियों को शिनाख्त करते हुए 24 घंटे के अंदर गिरफ्तारी सुनिश्चित हो अन्यथा भाजपा आंदोलन करने को मजबूर होगी.

प्रकाश ने रांची महानगर अध्यक्ष मनोज मिश्रा को कल अपराधियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने में परिजनों को सहयोग का निर्देश दिया. प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा, हटिया विधायक एवं प्रदेश मंत्री नवीन जायसवाल, मेयर आशा लकड़ा, जिलाध्यक्ष मनोज मिश्र, शामिल थे.