उदयपुर फिल्म फेस्टिवल 28 से 30 दिसंबर तक चलेगा

महाराणा कुम्भा संगीत सभागार में छठा 'उदयपुर फिल्म फेस्टिवल' का आयोजन होगा

उदयपुर. ‘प्रतिरोध का सिनेमा’ के तहत उदयपुर फिल्म सोसायटी और जन संस्कृति मंच की ओर से 28 से 30 दिसम्बर तक महाराणा कुम्भा संगीत सभागार में छठा ‘उदयपुर फिल्म फेस्टिवल’ का आयोजन होगा. फेस्टिवल में इस बार की थीम ‘नफरत और भीड़तंत्र के विरोध में हाशिये के लोग’ है. फेस्टिवल में एक लघु फिल्म, दो म्यूजिक वीडियो, पांच फीचर फिल्म, सात दस्तावेजी फिल्म और मीडिया पर एक सत्र रखा गया है. फीचर फिल्म में एक फिल्म ‘फर्दीनांद’ एनीमेशन फिल्म है.

आयोजन के संदर्भ में उदयपुर फिल्म सोसायटी की संयोजक रिंकू परिहार ने गुरुवार को बताया कि फेस्टिवल पूरी तरह से जन सहयोग पर आयोजित किया जा रहा है और इसमें प्रवेश के लिए किसी भी तरह के आमंत्रण या डोनर कार्ड की आवश्यकता नहीं होगी.

ये भी पढ़ें- राज्यव्यापी किशोरी स्वास्थ्य और माहवारी स्वच्छता जागरूकता अभियान जारी

प्रतिरोध का सिनेमा के राष्ट्रीय संयोजक संजय जोशी, जन संस्कृति मंच के प्रभारी हिमांशु पंड्या ने बताया कि फेस्टिवल का उद्घाटन शुक्रवार दोपहर 12 बजे पवन श्रीवास्तव के वक्तव्य से होगा, जिसके तुरंत बाद होईचोई समूह के दो म्यूजिक वीडियो ‘रंग’ और ‘एक देश कब बड़ा होता है’ से फेस्टिवल की विधिवत शुरुआत होगी. फिल्म फेस्टिवल में ही नवारुण से प्रकाशित कवि रमाकांत यादव ‘विद्रोही’ के काव्य संग्रह ‘नयी खेती’ का लोकार्पण भी होगा. फेस्टिवल में विद्रोही पर बनी फिल्म ‘मैं तुम्हारा कवि हूं’ का प्रदर्शन भी किया जाएगा. साथ ही फिल्म के निर्देशक नितिन पमनानी दर्शकों से संवाद के लिए उपस्थित रहेंगे.