यूपी : ‘फर्जी एनकाउंटर’ का ऑडियो वायरल होने के बाद कोतवाल निलंबित

नई दिल्ली. फर्जी एनकाउंटर संबंधित ऑडियो वायरल होने के बाद एसएसपी ने मऊरानीपुर पुलिस के कोतवाल को निलंबित कर दिया है. पूरे मामले की जांच की जा रही है. वायरल ऑडियो में मऊरानीपुर कोतवाल सुनीत कुमार खुद को आपराधिक प्रवृत्ति का बता रहे हैं. वह ब्लाक प्रमुख लेखराज को भाजपा जिलाध्यक्ष और विधायक से ‘समझने लेने’ की बात कह रहे हैं.

पुलिस ने दावा किया था कि शुक्रवार को टीकमगढ़ जिले के हरकनपुरा गांव में रानीपुर निवासी बंगरा के पूर्व ब्लॉक प्रमुख लेखराज सिंह यादव के साथ मुठभेड़ हुई थी. कहा गया था कि दोनों ओर से कई राउंड गोली चलने के बाद लेखराज सिंह यादव मौके से फरार हो गया. इसके कुछ घंटों के बाद से ही मऊरानीपुर कोतवाल सुनीत कुमार और लेखराज सिंह के बातचीत का ऑडियो वायरल हो रहा है.

ऑडियो में लेखराज बार-बार कोतवाल से मदद मांग रहा है, मगर कोतवाल उसे भाजपा जिलाध्यक्ष संजय दुबे और बबीना विधायक राजीव सिंह से मिलने की सलाह देता है. ऑडिओ में नेताओं को समझ लो, नहीं तो कुछ भी हो सकता है जैसे धमकी भरी बातें कही गई हैं.

एसएसपी विनोद कुमार सिंह ने कोतवाल को निलंबित कर दिया है. इसके साथ ही मामले की जांच भी शुरू कर दी गई है. जांच के बाद आगे की भी होगी कार्रवाई

मामले में भाजपा जिलाध्यक्षल संजय दुबे ने मामले में कहा, “मऊरानीपुर कोतवाल सुनीत कुमार भ्रष्ट पुलिस अफसर है. मैंने 23 मार्च को एसएसपी से मुलाकात कर इन्हें हटाने की बात कही थी. ऑडियो में वह विधायक के प्रति अपशब्द भी बोल रहा है, जो उसकी असभ्यता को दर्शाता है.

वहीं बबीना से विधायक राजीव सिंह ने कहा कि ऑडियो से साफ हो गया है कि कोतवाल सुनीत अपने रेट बढ़ाने के लिए मेरे नाम का उपयोग कर रहा है. कोतवाल पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं और वह जेल भी जा चुका है. ऐसे अफसर को कोतवाल क्यों बनाया गया, इसकी भी जांच होनी चाहिए.
राजीव सिंह, विधायक बबीना

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें