बिहार चुनाव : उपेन्द्र कुशवाहा निभा सकते है किंग मेकर की भूमिका

बिहार चुनाव : उपेन्द्र कुशवाहा निभा सकते है किंग मेकर की भूमिका

पटना. विधानसभा चुनाव में अपनी साख बचाने के लिए एनडीए और महागठबंधन की पार्टियां आपस में भिड़ रही है. प्रधानमंत्री मोदी , राहुल गांधी, मुख्यमंत्री नितीश कुमार और तेजस्वी यादव जैसे बड़े नाम खुलके चुनावी मैदान में अपनी ताल ठोक रहे है. लेकिन इस बार 6 पार्टियों के गठबंधन से तैयार हुआ तीसरा मोर्चा भी है, जो चुनाव में हुंकार भर रहा है.

राजनीतिक जानकारों के मुताबिक उपेंद्र कुशवाहा के नेतृत्व वाले ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट की भूमिका भी काफी अहम हो सकती है. ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट में कुशवाहा की रालोसपा, असदुद्धीन ओवैसी की एआईएमआईएम , मायावती की बसपा, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक और जनतांत्रिक पार्टी (समाजवादी) शामिल हैं.

मजबूत नजर आ रही नई पार्टियां

राजनितिक विश्लेषक मानते है कि 6 पार्टियों से बना यह गठबन्धन विधानसभा चुनाव में किंगमेकर की भूमिका निभा सकता है. इस गठबंधन का नेत्रित्व उपेन्द्र कुशवाहा कर रहे है. जानकार कहते है कि यह गठबंधन 10 प्रतिशत सीटें जीतने का दम रखता है. पिछले विधानसभा चुनाव और उपचुनाव में भी इस गठबंधन के घटक दलों ने अच्छा प्रदर्शन किया था.