19 मई को झारखंड में तीन सीटों पर चुनावी घमासान

झारखंड में 14 लोकसभा सीटों पर 229 उम्मीदवार चुनाव...- Panchayat Times
प्रतीक चित्र

रांची. लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार का शोर शुक्रवार शाम को थम जाएगा. संथाल परगना के तीन लोकसभा क्षेत्रों राजमहल, दुमका और गोड्डा में 19 मई को मतदान होना है. मतदान की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. शनिवार को मतदानकर्मी केंद्रों के लिए रवाना होंगे.

राज्य के इन तीन लोकसभा क्षेत्रों में कुल 42 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. राजमहल से 14, दुमका से 15 और गोड्डा से 13 उम्मीदवार हैं. इन तीन संसदीय क्षेत्रों में मतदाताओं की कुल संख्या 45,64,681 है, इनमें 23,64,541 पुरुष, 22,00,119 महिलायें और 21 थर्ड जेंडर हैं. मतदान के लिए कुल 6258 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. इनमें 489 शहरी और 5769 ग्रामीण क्षेत्रों में हैं. इस चरण में जिन प्रमुख उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा, उनमें राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन, सांसद निशिकांत दुबे व विजय कुमार हांसदा और विधायक प्रदीप यादव शामिल हैं.

संथाल परगना की इन तीन सीटों में से राजमहल और दुमका अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए सुरक्षित हैं. यह दोनों सीट अभी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कब्जे में है, जबकि एक सामान्य सीट गोड्डा भाजपा के पास है. 2014 के लोकसभा चुनाव में झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने दुमका में भाजपा के सुनील सोरेन को हराया था. राजमहल सीट पर झामुमो के ही विजय कुमार हांसदा ने भाजपा के हेमलाल मुर्मू को पराजित किया था. जबकि गोड्डा में भाजपा के निशिकांत दुबे ने कांग्रेस के फुरकान अंसारी को हराया था.

इसबार फुरकान अंसारी को छोड़कर अन्य सभी उम्मीदवार फिर एक-दूसरे के आमने-सामने हैं. गोड्डा लोकसभा सीट इसबार विपक्षी गठबंधन के तहत झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) के खाते में चली गयी. झाविमो ने गोड्डा से पार्टी विधायक दल के नेता प्रदीप यादव को मैदान में उतारा है. भाजपा ने इन तीनों सीटों पर इसबार भी अपने पुराने चेहरों पर ही भरोसा जताया है. चुनाव प्रचार में एक ओर भाजपा संथाल फतह के लिए पूरी ताकत झोंक रही है, वहीं झामुमो अपने गढ़ को बचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है.