हम सब मिलकर बनाएंगे उन्नत और विकसित राजस्थान: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

हम सब मिलकर बनाएंगे उन्नत और विकसित राजस्थान: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

जयपुर. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि राजस्थान अब बीमारू प्रदेश की श्रेणी से निकल कर देश का अग्रणी प्रदेश बनता जा रहा है. हम सब मिलकर इसे विकसित राजस्थान बनाएंगे और इसका कायापलट करने का काम करेंगे. राजे बुधवार को पाली के बांगड़ स्कूल खेल मैदान में 150.77 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्यों के लोकार्पण एवं 215 लाख रुपए के कार्य का शिलान्यास करने के बाद आयोजित आमसभा को संबोधित कर रही थीं.

इस मौके पर उन्होंने कहा कि प्रदेश में विकास कार्यों के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है और हम प्रबल इच्छाशक्ति के साथ प्रदेश को आगे बढाने काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि राजस्थान के लोगों ने इतिहास बनाया है और बाहर से लोग यहां की पवित्र भूमि को स्पर्श करने के लिए आते हैं. आईटी और दूरसंचार के क्षेत्र में इस सरकार ने राजस्थान में वह काम किया है कि कर्नाटक जैसे प्रदेश पीछे रह गए हैं और पूरी दुनिया में प्रदेश का नाम हो रहा है.

उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का गर्व और गौरव है कि राजस्थान सरकार ने गरीब और कमजोर व्यक्ति के उत्थान का काम किया है. भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना में पूरे प्रदेश में करीब साढे 24 लाख तथा पाली जिले में 62 हजार लोगों को इसका लाभ मिला है. अकेले पाली विधानसभा क्षेत्र में 24 हजार से अधिक लोग इस योजना में 3 लाख रुपए तक की चिकित्सा सुविधा से लाभान्वित हुए हैं. आज गरीब से गरीब व्यक्ति भी ऎसे बड़े अस्पतालों म इलाज करवा सकता है, जहां जाने की वह पहले सोच भी नहीं सकता था. स्वास्थ्य के क्षेत्र में 2500 करोड़ रुपए का खर्च इस सरकार ने किया है.

उन्होंने कहा कि राजश्री योजना के माध्यम से आज बेटियां लक्ष्मी बनकर पैदा हो रही हैं. उन्हें साईकिल, स्कूटी, लैपटॉप, शुभशक्ति आदि विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है. बायोमैट्रिक मशीन से राशन वितरण में पारदर्शिता आई है. लोगों का अनाज व पैसा एकदम सुरक्षित है. आज भामाशाह योजना विश्व की सबसे बड़ी योजाना है, जिसमें बीपीएल परिवारों के खाते में 21 हजार करोड़ रुपए जमा हुआ है. एक साथ 6000 स्कूलों को क्रमोन्नत किया गया है. हर ग्राम पंचायत में बारहवीं तक का स्कूल स्थापित किए जाने का काम हो रहा है. शिक्षा के क्षेत्र में राज्य 26 वें पायदान से छलांग लगाकर दूसरे स्थान पर आ गया है. स्वच्छता के क्षेत्र में 80 लाख शौचालय बनाए गए हैं.

उन्होंने कहा कि किसानों का 50 हजार रुपए तक का कर्जा माफ किया गया है और किसानों को करीब 80 हजार करोड़ रुपए बांटे जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने दुष्कर्म के मामलों में गंभीरता बरतते हुए अपराधी को फांसी की सजा का प्रावधान किया है. इसी का परिणाम है कि अब ऎसे मामलों में त्वरित न्याय हो रहा है.

पाली में प्रदूषण की समस्या के समाधान को लेकर उन्होंने कहा कि सभी पक्ष एक मंच पर बैठकर समाधान निकालें और इस दिशा में सरकार की ओर से जो भी करना होगा, वे करेंगी। उन्होंने कहा कि राज्य में बिना किसी भेदभाव के विकास के कार्य कराए जा रहे हैं तथा एक भ्रष्टाचारमुक्त शासन लोगों को दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पाली विधाानसभा क्षेत्र में इस कार्यकाल में करीब 1900 करोड़ के काम हो रहे हैं, जो कि अपने आम में एक मिसाल है.

केंद्रीय विधि राज्य मंत्री पीपी चौधरी ने इस दौरान पाली में 220 करोड़ रुपए की लागत से मेडिकल कॉलेज स्थापना के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया और कहा कि क्षेत्र के लिए यह बहुत बड़ी सौगात है.

पाली विधायक ज्ञानचंद पारख ने कहा कि विभिन्न विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि एल.एल.एम. कॉलेज के रूप में पाली को हाल ही में मुख्यमंत्री ने एक बड़ा तोहफा दिया है. पाली में इतने विकास कार्य हुए हैं कि यहां की जनता फूले नहीं समा रही है. संचालन सभापति महेंद्र बोहरा ने किया.

इस दौरान चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ, विधायक अशोक परनामी, राज्यसभा सदस्य रामनारायण डूडी, करण सिंह नेतरा, यूआईटी अध्यक्ष संजय ओझा, पूर्व मंत्री राजेंद्र गहलोत, खादी बोर्ड अध्यक्ष जसवंत सिंह बिश्नोई, जिला कलक्टर सुधीर कुमार शर्मा, एसपी राहुल प्रकाश, एडीएम भागीरथ बिश्नोई, सीईओ राजपाल सिंह सहित अधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में नागरिक मौजूद थे. इस दौरान विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया.