जानिए कैसे डाकघर में एटीएम कार्ड या पासबुक के बगैर भी हो सकता है तत्काल पैसों का भुगतान

जानिए कैसे डाकघर में एटीएम कार्ड या पासबुक के बगैर भी हो सकता है तत्काल पैसों का भुगतान - Panchayat Times

धनबाद. अगर आपके पास एटीएम कार्ड या पासबुक नहीं है और आप बैंक से पैसा निकलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अब चिंता करने की जरूरत नहीं है.  अब आप डाकघर जाकर अपने बैंक खाते में जमा राशि की निकासी कर सकते हैं.  इसके लिए बस आपको डाकघर जाकर बैंक का नाम और आधार नंबर बताना होगा.  डाकघर में ग्राहक का थम्ब इंप्रेशन मशीन में अंगूठा का निशान लेकर तत्काल पैसों का भुगतान कर दिया जाएगा, लेकिन इसके लिए ग्राहक का बैंक खाता आधार से लिंक होना जरूरी है.

बैंकों में लगने वाली लंबी लाइन से निजात मिलेगी

डाकघर के (इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक) आईपीपीबी में आधार इनेबल्ड पेमेंट सर्विस (एईपीएस) योजना शुरू की गई है.  इस योजना के तहत कस्टमर को बिना पासबुक या बिना एटीएम कार्ड के ही पैसे का तुरंत भुगतान कर दिया जाएगा.  इससे ग्राहकों को अब बैंकों में लगने वाली लंबी लाइन से निजात मिलेगी.  इस योजना के तहत कोई भी ग्राहक 100 से 10000 रुपए निकाल सकते हैं.

पैसे की निकासी के साथ फंड ट्रांसफर की भी सुविधा

एईपीएस योजना में बैंक खाता धारकों को कई तरह की सुविधा दी जा रही है.  इसके तहत डाकघर से पैसों की निकासी के साथ आधार-टू-आधार फंड ट्रांसफर की सुविधा भी खाताधारकों को दी जाएगी.  आने वाले समय में बैंक खाताधारकों को कैश डिपोजिट के साथ-साथ अकाउंट बैलेंस चेक की सुविधा भी प्रदान की जाएगी.

इस तरह डाकघरों से की जा सकेगी नकदी की निकासी

डाकघर में ग्राहकों को 100 से 10 हजार रुपए तक के भुगतान के लिए अपने साथ आधार कार्ड लेकर जाना होगा.  वहां बॉयोमेट्रिक सिस्टम पर अंगूठा लगाया जाएगा.  इसके बाद संबंधित बैंक खाते से आधार को जोड़कर पैसे का भुगतान कर दिया जाएगा.  पैसा भुगतान होने का मैसेज तुरंत आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेज दिया जाएगा.

ग्रामीण खाताधारक भी उठा सकते हैं योजना का लाभ

आधार इनेबल पेमेंट सिस्टम योजना का लाभ ग्रामीण इलाकों में रहने वाले बैंक खाता धारक भी उठा सकते हैं.  योजना का लाभ उठाने के लिए उनका बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना आवश्यक है.  ग्रामीण इलाकों में किसी भी उप डाकघर में जाकर ग्रामीण पैसे की निकासी कर सकते हैं.

15 रुपए सुविधा शुल्क वसूलेगा डाक विभाग

एईपीएस योजना के तहत पैसों के लेनदेन से संबंधित हर प्रक्रिया के दौरान डाकघर की ओर से खाताधारकों से 15 रुपए तक सुविधा शुल्क वसूला जाएगा.  यह सुविधा शुल्क ट्रांजेक्शन के दौरान खाता धारकों के बैंक अकाउंट से काट लिया जाएगा.