अगरबत्ती बना कर आत्मनिर्भर बन रही महिलाएं

अगरबत्ती बना कर आत्मनिर्भर बन रही महिलाएं-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

रांची. झारखंड में रांची के रातू रोड स्थित कृषणापुरी मुहल्ले की कुछ महिलाएं अगरबत्ती बनाने के काम से जुड़कर आत्मनिर्भर बनी हैं. इस कारोबार से जुड़ने के बाद महिलाओं की आर्थिक तंगी दूर हो गई है. सवाल आस्था का हो, या फिर माहौल को खुशगवार बनाने का, अगरबत्ती का बड़ा अहम रोल होता है.

आज यही अगरबत्ती रांची की कई महिलाओं के जीवन मे खुशियों की खुशबू बिखेर रहा है. इस अगरबत्ती ने समूह से जुड़ी करीब पचास महिलाओं को आर्थिक संबल प्रदान किया है. वैसे तो होलसेलरों के हाथों से होकर इस अगरबत्ती की महक आज पूरे झारखंड के बाजारों मे फैल रही है, लेकिन समय-समय पर सरकार की ओर से लगने वाला हस्तकरघा और व्यापार मेला इनके उत्पाद को खपाने का बेहतरीन अवसर होता है.

इस काम से जुड़ी महिलाएं महीने के पांच से दस हजार आराम से कमा लेती हैं. यहीं नहीं, यह काम इनके खाली वक्त को गुजारने का भी मुफीद जरिया बन गया है. अगरबत्ती का बनना तो महज एक बहाना है, सच कहें तो इन महिलाओं के भीतर वर्षों से कुछ कर गुजरने की लालसा कहीं दबी थी. समूह से जुड़कर इनके सपनों को जैसे पंख मिल गए.