मास्क पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा

मास्क पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा-Panchayat Times
मास्क पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पूजन करती महिलाएं

रामगढ़. रामगढ़ में वट सावित्री पूजा आस्था और विश्वास के साथ मनाई गई. शुक्रवार को सुबह से ही महिलाओं की भीड़ बरगद के पेड़ों के नीचे जुटने लगी थी. लेकिन इस पूजन के दौरान भी महिलाओं ने मास्क पहना और 2 गज शारीरिक दूरी का ध्यान रखा गया. मंत्रोचार कर रहे ब्राह्मणों ने एक बार में सिर्फ 5 महिलाओं को ही फेरा लगाने का निर्देश दिया.

महिलाएं बारी-बारी से बरगद के पेड़ का फेरा लगाईं और उसमें लाल धागे बांधे. ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन मनाए जाने वाले वट सावित्री पूजन को लेकर पूरे दिन जिले में विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम होते रहे. मान्यता के अनुसार बरगद के वृक्ष के जड़ों में भगवान ब्रह्मा, तने में भगवान विष्णु, व डाली और पत्तों में भगवान शिव का निवास होता है.

मास्क पहनकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा-Panchayat Times
वट सावित्री पूजन के बाद एक दूसरे को सिंदूर करती महिलाएं

आज के दिन महिलाएं इस पेड़ के नीचे इन तीनों देवताओं का आवाह्न कर अपने पति के लंबी उम्र की कामना करती हैं. मौके पर ब्राह्मणों ने देवी सावित्री और उनके पति सत्यवान की कथा भी व्रतियों को सुनाई. किस तरह देवी सावित्री ने यमराज से अपने पति के जीवन को मांग कर लाई थी. फिर उनके पति को लंबी उम्र प्राप्त हुई थी. इस कथा के माध्यम से सुहागिन महिलाओं ने भी अपने पति की लंबी उम्र और परिवारजनों के सुखी संपन्न होने की प्रार्थना की। शहर के थाना चौक, फुटबॉल ग्राउंड, बिजुलिया, नेहरू रोड, बंगाली टोला, लोहार टोला, गोढ़ियारी बाग सहित अन्य स्थानों पर व्रतियों ने यह पूजा की.