हिमाचल में चार दिन के लिए भारी बारिश का येलो और आरेंज अलर्ट

हिमाचल में भारी वर्षा की चेतावनी, भूस्खलन से 287 सड़कें बंद- Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में मानसून अपना असर दिखाएगा. मौसम विभाग ने अगले चार दिन भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. लाहौल-स्पीति और किन्नौर को छोड़कर अन्य 10 जिलों में मूसलाधार बारिश का येलो और आरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

राज्य में 21 जुलाई तक बादलों के जमकर बरसने की संभावना है. मैदानी और मध्यपर्वतीय क्षेत्रों के लिए 18 व 19 जुलाई को येलो तथा 20 व 21 जुलाई को आरेंज अलर्ट रहेगा. आरेंज अलर्ट के दौरान भारी बारिश से ज्यादा नुकसान होने की आशंका जताई जाती है. जबकि येलो अलर्ट में लोगों को बारिश के दौरान सचेत रहने की हिदायत दी जाती है. येलो और आरेंज अलर्ट हमीरपुर, बिलासपुर, उना, कांगड़ा, मंडी, कुल्लू, शिमला, सोलन, सिरमौर और चंबा जिलों के लिए जारी हुआ है.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि आगामी 22 जुलाई तक राज्य में भारी बारिश होने का अनुमान है. मैदानों व मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में 21 जुलाई तक बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. उन्होंने इन भागों में 20 व 21 जुलाई को भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी.

इस बीच शुक्रवार को भी राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बरसात हुई. राजधानी शिमला में सुबह से आसमान बादलों से घिरा हुआ था, दोपहर के समय यहां एकाएक बारिश शुरू हो गई। बीते 24 घंटों में जोगेंद्रनगर में सर्वाधिक 58 मिमी बारिश हुई. इसके अलावा धर्मपुर में 50, बंजार में 48, टिंडर में 46, सियोबाग में 30, बैजनाथ में 28, घुमारवीं में 25, रामपुर में 24, धर्मशाला व बंगाणा में 20, जुब्बल व डल्हौजी में 18, जतौन बैरेज में 15, भुंतर में 12, चंबा व पंडोह में 11 मिमी बारिश हुई है.