सोलन : ग्रेजुएशन के बाद बनाया मशरूम को व्यवसाय

सोलन. हिमाचल प्रदेश की सबसे बड़ी नगर परिषद सोलन है. यह राज्य की राजधानी शिमला से 46 किलोमीटर दक्षिण में 1,600 मीटर (5,200 फीट) की औसत ऊंचाई पर स्थित है. क्षेत्र में मशरूम की खेती के साथ-साथ चम्बाघाट में स्थित मशरूम रिसर्च के निदेशालय (डीएमआर) की वजह से इसे “भारत का मशरूम शहर” भी कहा जाता है.

सोलन में कुछ युवा नौकरी का सपना छोड़ स्वाब्ल्म्बी होने की दौड़ में शामिल हो रहे हैं. जिसका जीता-जागता उदाहरण रबोन का यह युवक है. जिसने महज कुछ रकम जुटाकर मशरूम की खेती शुरू कर दी है. और अब  ये प्रतिदिन अच्छा व्यवसाय कर रहा है. यह हरदिन लगभग एक हज़ार रूपये के मशरूम बाज़ार में बेचकर मुनाफा कमा लेता है. अरुण अपने आस-पास के युवाओं को भी प्रेरित कर रहा है.

ये भी पढ़ें- वीरभद्र सिंह ने लोकसभा चुनाव के बारे में दिया बड़ा बयान

इनका कहना है कि देश के पधान मंत्री द्वारा दी गई सीख पर अमल करते हुए ग्रेजुएशन के बाद  अरुण  कुमार  नौकरियों के पीछे भागना छोड़ कर अपना व्यवसाय करने का मन बनाया. महज दस हज़ार रूपये से मशरूम फार्मिंग  की शुरुआत की. इस काम में उसके साथ-साथ उसका छोटा भाई भी है. इसका मानना है कि युवाओं को नौकरी के पीछे नहीं भागना चाहिए. बल्कि खुद का कोई व्यवसाय शुरू करना चाहिए ताकि आप दूसरों को रोजगार दें सके.