भाजपा की ‘किसान विरोधी’ नीतियों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन

मध्यप्रदेश में चल रहे किसान आंदोलन से पैदा हुए सियासी गर्माहट के बीच राजस्थान में भी कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है. बुधवार को अजमेर कांग्रेस कमेटी ने भाजपा सरकार के ‘किसान विरोधी’ नीतियों के खिलाफ धरना-प्रदर्शन किया. धरना का आयोजन अजमेर के जिला कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय पर किया गया.

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता और पुष्कर के पूर्व विधायक डा. गोपाल बाहेती ने कांग्रेस शासन काल में अपने सरकार के द्वारा किसानों को दी गई अनुदान का जिक्र करते हुए कहा कि अशोक गहलोत सरकार ने किसानों को दूध खरीद पर दो रूपया प्रति लीटर का अनुदान दिया जबकि वर्तमान सरकार ने उसे बंद कर दिया. उन्होने कहा कि पहले किसानों को छह घंटे की बिजली मिलती थी नई सरकार के आने के बाद उसे घटाकर चार घंटे कर दिया गया. उन्होने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार जब से राजस्थान की सत्ता में आई है बिजली के दाम छह बार बढ़ा चुकी है.

डा. बाहेती ने कहा “मनमोहन सरकार चुपचाप किसाान का कर्जा माफ कर दिया जबकी वर्तमान केन्द्र सरकार वादा करने के बावजूद किसानों के कर्ज को माफ नहींं कर रही है. केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने मंगलवार को किसानों के ऋण-माफी को लेकर राज्य सरकारों को वित्तीय मदद नहीं करने का बयान दिया है. यूपीए की पिछली केन्द्र सरकार ने 2008 में किसानों का 56,000 करोड़ ऋण की माफी की थी। अभी मध्यप्रदेश और राजस्थान राज्य के साथ केन्द्र मेंं भाजपा के नेतृत्व की सरकार है.

धरना को संबोधित करते हुए युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष राकेश शर्मा ने लोकसभा चुनाव के पूर्व भाजपा के द्वारा किसानों को किया गया वादा याद दिलाया. उन्होनें कहा कि नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों मेंं जाकर किसानों को फसल के लागत मुल्य का डेढ गुणा दाम देने का वादा किया था. लेकिन अब सरकार अपने ही वादे की अनदेखी कर रही है. उन्होने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के उपवास को ढकोसला बताते हुए कहा कि शिवराज सिंह पहले तो गोडसेगीरी अपनाते हैं, फिर गांंधीगीरी का उपवास रखकर पूरे देश को बरगलाने का काम कर रहे हैं”

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर पार्टी पूरे प्रदेश भर में धरना-प्रदर्शन कर रही है। प्रदर्शन में कांग्रेस युवा अध्यक्ष राकेश शर्मा, भूपेन्द्र सिंंह राठौर नसीम अख्तर, इंसाफ अली, संजय मालाकार नलु, सुरेश चंद्र शर्मा नलु, नाथू राम सिनोदिया, प्रभा देवी, रागीनी चतुर्वेदी उपस्थित रहे। धरना स्थल पर भारी पुलिस बल जमी रही।

-अजमेर से नरेन्द्र सिंह राठौड़ की रिपोर्ट