जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मांगा इस्तीफा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से इस्तीफा मांगा. साथ ही ये भी कहा कि अब सीएम की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. जबकि सीएम कार्यालय भ्रष्टाचार के मामले में शंका के घेरे आ चुका है.मुख्यमंत्री अपने खिलाफ भ्रष्टाचार के चल रहे मामलों में बचाव करने के लिए सरकारी धन का दुरुपयोग कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के प्रदेश के विकास के लिए दी जा रही योजना में राज्य सरकार रोड़ा अटकाने का काम कर रही है. नड्डा ने कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी पर भी निशाना साधा. शिमला दौरे पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री ने पत्रकार वार्ता में कहा कि कांग्रेस की दिल्ली में लीडरशिप का भी नैतिक का पतन हो गया है.

नैतिकता के आधार पर उन्हें मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगना चाहिए. कांग्रेस के कमजोर होने के चलते यह नहीं हो रहा है. प्रदेश सरकार ने विकास की गति को रोक दिया है.

वर्कर्स से मुलाकत की नड्डा ने

जेपी नड्डा ने शिमला में उन्होंने पार्टी के वर्कर्स से मुलाकात की. इसके साथ ही आम जनता से भी मिले. उन्होंने लोगों से अपील की कि शिमला को बेहतरीन सिटी बनाने के लिए भाजपा के हाथ मजबूत करें, ताकि केंद्रीय प्रोजेक्ट्स के जरिए शिमला का नक्शा बदला जा सके.

एम्स के लिए और भूमि

जेपी नड्डा ने कहा कि बिलासपुर में एम्स खोलने के लिए पर्याप्त भूमि नहीं है. राज्य सरकार जो भूमि एम्स बनाने के लिए दे रही है वो जमीन पर्याप्त नहीं है. हिमाचल सरकार को कुछ और जमीन उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है.

फोटो – दिव्यहिमाचल

शेयर करें