जस्टिस सी.एस. कर्णन कोयम्बटूर में गिरफ्तार

अदालत की अवमानना करने पर कलकत्ता हाई कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस सी.एस. कर्णन को गिरफ्तार कर लिया गया है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा 6 महीने की सजा सुनाये जाने के बाद वह फरार चल रहे थे. उन्हें तमिलनाडु के कोयमबटूर शहर से गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ़्तारी से पहले कर्णन और पुलिस में काफी नोंक –झोंक हुई. अब इन्हें बुधवार को चेन्नई हाई कोर्ट में पेश किया जायेगा.  कर्णन सुप्रीम कोर्ट के द्वारा 9 मई को 6 महीने की सजा सुनाये जाने का बाद फरार चल रहे थे. कोर्ट की कार्रवाई में ऐसा पहली बार हुआ है कि हाई कोर्ट जज को सुप्रीम कोर्ट ने मानहानि के मामले में सजा सुनाई है.

जस्टिस सी.एस. कर्णन ने लगाया था भ्रष्टाचार का आरोप

कर्णन ने सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के 20 पदों काबिज जजों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था और उन्होंने इसके लिए सीबीआई को जाँच के आदेश भी दिए थे और जाँच की रिपोर्ट संसद में सौंपने को कहा था. इस आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्य न्यायधीश ने इसे अदालत की अवमामना बताया. इसके बाद 7 जजों की एक खंडपीठ का गठन कर जस्टिस कर्णन अवमानना से जुडी कार्रवाई शुरू की गई.

माध्यमPT DESK
शेयर करें