मोदी लहर में वीरभद्र का खिसकता जनाधार : धूमल

पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल ने नगर निगम शिमला में जीत के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए, भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं का आभार जताया. उन्होंने कहा कि 31 साल बाद भाजपा को नगर निगम चुनाव जिताने के लिए शिमला की जनता का तहे दिल से धन्यवाद करता हूँ. नगर निगम चुनाव में भाजपा ने महापौर के रूप में कुसम और उपमहापौर राकेश को बनाया है.उपमहापौर पद के लिए भाजपा प्रत्याशी राकेश कुमार को 20 जबकि कांग्रेस के प्रत्याशी आनंद कौशल को 13 वोट पड़े.

धूमल ने कहा कि कांग्रेस और माकपा इस चुनाव को टालने के लिए कई बार कोशिश की, मगर हाईकोर्ट के आदेश के  बाद यह चुनाव हुआ. संवैधानिक पद पर बैठे चुनाव आयुक्त द्वारा गैर जिम्मेद्दराना कार्य किये जाने पर उन्होंने दुःख जताया. साथ ही कहा कि जनता पहले से अपना मन बना चुकी थी कि उन्हें किसे चुनना है और जनता से इसका जवाब वोट देकर दे दिया है.

वीरभद्र सिंह को देना चाहिए इस्तीफा इस 

इस चुनाव में कांग्रेस का यह मानना था कि यह हमारे लिए विधानसभा चुनाव से पहले यह चुनाव सेमीफाइनल की तरह है. वहीं कांग्रेस को लोकसभा चुनाव, उपचुनाव और इस बार नगर निगम चुनाव से यह संकेत मिल गया है कि उनका जनाधार खिसकता जा रहा है, इसलिए उन्हें सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है. सरकार को नैतिकता के नाते इस्तीफा देकर नये सिरे से चुनाव करवाना चाहये.

जिन्हें ये लग रहा था कि मोदी लहर को शिमला में रोका जा सकता है, लेकिन हुआ नहीं. उन्हें यह जान लेने की जरुरत है कि यह लहर अब रूकने वाली नहीं है.विधानसभा चुनाव में भी यह लहर बरक़रार रहेगी.

 पेयजल उपलब्ध करवाना पहला लक्ष्य

शिमला को शुद्ध पेय जल उपलब्ध करवाना सबसे पहला लक्ष्य होगा. विश्व बैंक को 400 करोड़ की योजना भेज रखी थी अब 4 साल बाद उस पर कांग्रेस बात करने लगी है.