राष्ट्रपति चुनाव :सीपीआई को आरएसएस का चेहरा मंजूर नहीं

राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी दलों के साथ आपसी सहमति के भारतीय जनता पार्टी ने विपक्षी दलों से बात करना प्रारंभ कर दिया है. उम्मीदवार के चयन के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी सहित विपक्ष के अन्य बड़े नेताओं से मुलाकात की. हालांकि सीपीआई ने भाजपा के इन दोनों प्रतिनिधियों से कहा है कि सत्ताधारी गठबंधन कोई कट्टर उम्मीदवार को राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर मैदान में न उतारे.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सीपीआई के जनरल सेक्रेटरी एस सुधाकर रेड्डी ने कहा कि राष्ट्रपति पद के लिए हमें कोई भी कट्टर उम्मीदवार नहीं चाहिए. शाखा का कोई भी व्यक्ति हमें मंजूर नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि हमें पता है कि उनके पास राष्ट्रपति चुनाव जीतने की पूर्ण क्षमता है, इस समय देश बंटा हुआ है और यह चुनाव सभी दलों के लिए महत्व रखता है. इसलिए ऐसे उम्मीदवार को लाया जाए जिसके नाम पर सभी दल तैयार हो जाएं. मोहन भागवत के नाम पर भाजपा के दोनों नेताओं ने कहा कि आरएसएस के नेता चुनाव नहीं लड़ते हैं.गौरतलब है कि शिवसेना ने मोहन भागवत का नाम राष्ट्रपति पद के लिए सुझाया था.