अयोध्या विवाद पर नया फॉर्मूला देने वाले सलमान AIMPLB से बाहर

नई दिल्ली. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या विवाद पर बयान देने वाले मौलाना सलमान नदवी को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. आर्ट ऑफ लिविंग के श्री श्री रविशंकर से नदवी ने मुलाकात की थी और मंदिर बनाने को लेकर एक नया फॉर्मूला दिया था. उन्हें बाहर निकालने के फैसले के बाद हैदराबाद में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के एग्जिक्यूटिव कमेटी की मीटिंग चल रही है.

बीते 8 फरवरी को सलमान नदवी ने राम मंदिर के लिए विवादित जमीन छोड़ने पर सहमति दिखाई थी. यह बात उन्होंने बेंगलुरू में श्री श्री रविशंकर से मुलाकात के बाद कही थी. नदवी ने ये भी कहा था कि मस्जिद किसी दूसरी जगह बनाई जाएगी. इस बयान के बाद उन्हें बर्खास्त किया जाए या नहीं इसे लेकर बोर्ड ने 4 सदस्यीय कमेटी का गठन किया, जिसने सलमान नदवी को मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से निकालने का सुझाव दिया, जिसके बाद आज रविवार को उन्हें बोर्ड से निकाल दिया गया है.

अयोध्या विवाद पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सलमान नवदी के ताज़ा बयान के बीच साफ किया है कि इस विवाद को लेकर वो अपने पुराने स्टैंड पर खड़े हैं और विवादित जमीन पर अपना दावा नहीं छोड़ रहे हैं. उनका कहना है कि वह इस मामले में अदालत के फैसले को मानेंगे. साल 2010 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर विवादित जमीन को तीन हिस्सों में बांटने का फैसला दिया था, जिसे अदालत में चुनौती दी गई. अब 14 मार्च से इस केस की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में हो रही है.