सब्सिडी बंद करने से उपभोक्ताओं को नहीं मिल पा रही चीनी

हमीरपुर -केंद्र सरकार द्वारा सब्सिडी बंद करने के बाद मई माह से उपभोक्ताओं को चीनी नहीं मिल पा रही है. उचित मूल्यों की दुकानों पर चीनी न मिलने पर संशय बना हुआ है.यदि केंद्र सरकार चीनी पर सब्सिडी देती है तो प्रदेश के डिपों में उपभोक्ताओं को चीनी मिलेगी. केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी के बाद बीपीएल परिवारों को 13.50 रूपये प्रति किलो और एपीएल परिवारों को 19.50 रूपये में चीनी उपलब्ध करवाई जा रही थी. प्रदेश सरकार ने उपभोक्ताओं को 30 रूपये प्रति किलो के हिसाब से चीनी उपलब्ध करवाने की बात कही थी. लेकिन अभी तक डिपो में चीनी उपलब्ध नहीं हो पाई है. ऐसे में उपभोक्तओं को डिपो में मिलने वाला चीनी का कोटा न मिलने से बाजार से ही चीनी खरीदनी पड़ेगी.यही नहीं उचित मूल्य की दुकानों पर इस बार चीनी और दालें उपभोक्ताओं को नहीं मिली है.
वहीं कई डिपो में दाल और तेल भी उपभोक्ताओं को नहीं मिला पाया है. मई माह में दिए उपभोक्ताओं को राशन में आटा, चावल, एक दाल और कुछ डिपों सरसों का तेल दिया गया है. जबकि उपभोक्ताओं को मई माह का चीनी का कोटा नहीं मिला है. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि चीनी पर मिलने वाली सब्सिडी को केंद्र सरकार ने समाप्त कर दिया है. अब डिपों में चीनी नहीं मिलेगी. वहीं इस बार मसूर की दाल ही मिल पाई है, जबकि चने दाल और राजमाह भी नहीं दिए गए हैं. डिपों के माध्यम से प्रत्येक उपभोक्ता को 700 ग्राम चीनी का कोटा प्रति माह के हिसाब दिया जाता था लेकिन इस बार चीनी के कोटे में कटौती की गई. गौर रहे जिला में 134381 राशनकार्ड धारक हैं और 292 उचित मूल्य की दुकानों में राशन लेते हैं. इस बारे में जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी ध्रुवां देवी ने बताया कि जो सामान अलाट किया गया है. उसे डिपो धारकों ने उपभोक्ताओं को दे दिया है. उन्होंने कहा कि यदि दालों और चीनी की अलाटमेंट ही आए तो उपभोक्ताओं को कहा से राशन दें.

 

शेयर करें