आफत की बारिश से बेघर परिवार

मंडी. गोहर में भूस्खलन के कारण एक परिवार घर से बेघर हो गया. बारिश कुदरत का कहर बन कर आई और कुछ ही मिनटों में सब कुछ तबाह कर के चली गयी.

ग्राम पंचायत स्यांज के तरौण गांव में डूमणू राम का परिवार बारिश के कारण आई से आफत बेघर हो गया. घर के पीछे का सारा मलबा मकान पर आ गिरा, जिससे पूरा परिवार घर में ही दब गया. ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद परिवार के लोगों को बचा तो लिया, लेकिन अब इस परिवार के पास रहने के लिए कोई आसरा नहीं बचा है.

प्रशासन ने पीड़ित परिवार को 35 हजार की फौरी राहत दी है. इसके साथ ही पास के ही आंगनबाड़ी केंद्र में रहने के लिए जगह मुहैया कराई है.

डूमणू राम का टूटा हुआ घर भी सरकारी मदद से ही बना था और अब इस गरीब परिवार के पास यह समस्या आ गई है कि दोबारा से घर कैसे बनाएं. डूमणू राम ने सरकार और प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है.

सुंदरनगर जिला कांग्रेस के प्रवक्ता ब्रह्मदास चौहान ने तरौण गांव पहुंचकर प्रभावित परिवार से मुलाकात की और उन्हें सरकार से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया.

वहीं इस घर के साथ लगते दो अन्य घरों पर भी खतरे के बादल मंडराना शुरू हो गए हैं. प्रशासन ने इन घरों को एहतियात के तौर पर खाली करवा दिया है.