छात्रसंघ चुनाव: हैदराबाद विश्वविद्यालय में ‘रोहित वेमुला’ की जीत

नई दिल्ली. सामाजिक न्याय के नाम पर एकजुट हुए छात्र संगठनों के गठबंधन ASJ(एसोसिएशन ऑफ सोशल जस्टिस) ने हैदराबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ की सभी प्रमुख सीटें जीत ली हैं. चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) और कांग्रेस के छात्र संघ (NSUI) को हार का मुंह देखना पड़ा है. उपाध्यक्ष पद के लिए जीते उम्मीदवार को अमान्य करार दिये जाने के बाद छात्रों के विरोध को देखते हुए चुनाव परिणामों की आधिकारिक घोषणा रोक दी गई है.

क्या है एएसजे (ASJ)

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI), अम्बेडकर छात्र संघ (ASU), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट यूनियन(DSU) और ट्राइबल स्टूडेंट फोरम(TSF) के गठबंधन एएसजे(ASJ) ने ज्यादातर सीटों को जीता है. उपाध्यक्ष के पद पर भी एएसजे के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है. श्रीरंग पी हैदराबाद विवि छात्रसंघ के नये अध्यक्ष बने हैं जबकि अरिफ अहमद ने महासचिव के पद पर जीत दर्ज की है. इसी विश्वविद्यालय के छात्र रहे रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद छात्रों ने देशव्यापी प्रदर्शन किया था.

मालूम हो कि एबीवीपी से इतर अन्य छात्र संगठनोंं ने हाल के छात्रसंघ चुनावों में लगतार जीत दर्ज की है. जेएनयू छात्र संघ में सभी चार महत्वपूर्ण सीटोंं पर एबीवीपी विरोधी छात्र संगठनों ने जीत दर्ज की थी. वहीं, 13 सितंबर को दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव परिणामों में एनएसयूआई ने अध्यक्ष सहित दो सीटों पर जीत दर्ज की. यही पैटर्न हाल में हुए राजस्थान और गौहाटी विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में भी देखने को मिले हैं. एबीवीपी, भाजपा का छात्र संघ है।