कांगड़ा के पुराने किले में हर साल बढ़ रहे हैं पर्यटक

कांगड़ा. पुराना कांगड़ा स्थित प्राचीन किला देश-विदेश के पर्यटकों को लगातार अपनी ओर आकर्षित कर रहा है. पिछले दो सालों के मुकाबले पर्यटकों की संख्या में भारी वृद्धि दर्ज की गई है. जानकारी के अनुसार साल 2015 में इस किले को देखने के लिए देश भर से एक लाख 27 हजार 737 पर्यटक आये. वहीं विदेशों से इस किले को देखने के लिए 2527 पर्यटक पहुंचे.

साल  2016 में एक लाख 52 हजार 141 पर्यटक यहां पहुंचे, जबकि 3373 विदेशी पर्यटकों ने भी यहां दस्तक दी. इस वर्ष 19 अगस्त तक यहां देश भर से एक लाख 75 हजार 112 पर्यटक पहुंच चुके हैं. जबकि विदेशी पर्यटकों की संख्या 2245 है. जाहिर है हर वर्ष किले में आने वाले पर्यटकों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है.

अब भी नहीं लगा म्यूजिकल फव्वारा 

पुरातत्व विभाग द्वारा समय-समय पर किले का रख-रखाव किया जा रहा है. परंतु एक भी सरकारी घोषणा अब तक पूरी नहीं हुई है. पूर्व मुख्य मंत्री प्रेम कुमार धूमल ने अपने समय में यहां एक कैफे व संगीतमय फव्वारा स्थापित करने की बात कही थी, परंतु लगभग 20 साल बीत जाने के बाद भी यह घोषणा पूरी नहीं हुई है. साथ ही किले को रात के समय जगमगाने के लिए 20 लाख रुपये की लागत से लाईटें लगाई गई थी जो अब पूरी तरह से टूट चुकी हैं.

जानकारी के अनुसार लाईटों का रख-रखाव न होने के कारण 20 लाख रुपये पानी की तरह बहा दिये गये. जानकारी के अनुसार इन लाईटों के रख-रखाव का जिम्मा पर्यटन विभाग के कंधों पर था. इस संबंध में जिला पर्यटन अधिकारी नैना शर्मा ने कहा कि उन्हे कोई जानकारी नहीं है. फिर भी इसका पता लगाया जाएगा. विभाग द्वारा पर्यटकों को हर सुविधा देने का पूरा प्रयास किया जा रहा है ताकि पर्यटकों की संख्या बढ़ती रहे.  कांगड़ा किला के अधिकारी दिनेश शर्मा के अनुसार यहां पर्यटकों की संख्या में लगतार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है.