आरटीआई कार्यकर्ता निखिल डे को चार महीने की सजा

20 साल पुराने मामले में आरटीआई कार्यकर्ता निखिल डे समेत 4 लोगों को अजमेर की किशनकोर्ट ने 4 महीने की सजा सुनाई है. इन लोगों पर बिना इजाजत गाँव में घुसने और चोट पहुँचाने का आरोप है.

मामला 1998 का है। विकास कार्य में भ्रष्टाचार की कई शिकायतें मिलने के बाद निखिल डे अपनी टीम के साथ सरपंच से ब्यौरा मांगने पहुंचे थे। हालांकि कार्यकर्ताओं की यह दलील है कि ब्यौरा मांगने पर सरपंच के लोगों ने उनकी पिटाई कर दी और मामला भी दर्ज करा दिया. सबूतों के आभाव में पुलिस को यह केस बंद करना पड़ा. सरपंच ने दो साल बाद  कोर्ट में मामले को खुलवाया था.

शेयर करें